Home World अटलांटिक महासागर में चीन-रूस की गतिविधियों से निपटने के लिए अमेरिका बना...

अटलांटिक महासागर में चीन-रूस की गतिविधियों से निपटने के लिए अमेरिका बना रहा युद्ध युद्ध

6
फाइल फोटो.

फाइल फोटो।

अमेरिकी रक्षा मंत्रालय (अमेरिकी रक्षा मंत्रालय) के अधिकारियों के हवाले से कहा गया है कि अटलांटिक महासागर में चीन और रूस (चीन और रूस) की उग्र गतिविधियों से निपटने के लिए नई युद्ध रणनीति बनाई जाएगी जिसके तहत अमेरिकी सेना के शीर्ष अधिकारियों को विशेष प्रशिक्षण दिया जाएगा।

वाशिंगटन। अमेरिका (अमेरिका) की सेना चीन और रूस (चीन और रूस) के कारण लगातार बढ़ते हुए खतरे के मद्देनजर एक समग्र युद्ध रणनीति तैयार करने की योजना बना रही है। सीएनएन ने शनिवार को अपनी एक रिपोर्ट में अमेरिकी रक्षा स्रोतों के हवाले से यह जानकारी दी। रिपोर्ट में अमेरिकी रक्षा मंत्रालय के अधिकारियों के हवाले से कहा गया है कि अटलांटिक महासागर में चीन और रूस की उग्र गतिविधियों से निपटने के लिए नई युद्ध रणनीति बनाई जाएगी जिसके तहत अमेरिकी सेना के शीर्ष अधिकारियों को विशेष प्रशिक्षण दिया जाएगा। अमेरिकी सैन्य अधिकारियों ने वैश्विक चुनौतियों का सामना करने के लिए भी तैयार किया जाएगा।

अमेरिका की इस नई युद्ध रणनीति के तहत साइबर हमलों, बाल्टिक और आर्कटिक सागर में रूस की बढ़ती हुई अस्तित्वगी के अलावा दक्षिण या सागर में चीन की लगातार मजबूत होती स्थिति से निपटने की ओर विशेष ध्यान दिया जाएगा। अमेरिका की इस युद्ध रणनीति की अगुवाई अमेरिकी रक्षा मंत्री लीलो आस्टिन की निगरानी में सेना के जेई गाइड शेफ ऑफ स्टाफ मार्क से हुई।

ये भी पढ़ें: अमेरिका: जो बाइडन ने पहली वैश्विक जलवायु चर्चा के लिए रूस और चीन को आमंत्रित किया

वहीं दूसरी ओर, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन (जो बिडेन) के प्रशासन ने पहले वैश्विक जलवायु चर्चा के लिए रूसी राष्ट्रपति व्लादीमीर पुतिन और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (शी जिनपिंग) को आमंत्रित किया है। प्रशासनिक अधिकारियों ने बताया कि इस समारोह के जरिए अमेरिका को जीवाश्म ईंधन से होने वाले जलवायु प्रदूषण को कम करने में वैश्विक स्तर पर प्रयासों को धार देने में मदद मिलने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि 22 और 23 अप्रैल को होने वाले कार्यक्रम के लिए शुक्रवार को विश्व के 40 प्रमुखों को निमंत्रण पत्र भेजने का कार्य जारी है।



<!–

–>

<!–

–>

window.addEventListener(‘load’, (event) =>
nwGTMScript();
nwPWAScript();
fb_pixel_code();
);
function nwGTMScript()
(function(w,d,s,l,i)[];w[l].push(‘gtm.start’:
new Date().getTime(),event:’gtm.js’);var f=d.getElementsByTagName(s)[0],
j=d.createElement(s),dl=l!=’dataLayer’?’&l=”+l:”‘;j.async=true;j.src=”https://www.googletagmanager.com/gtm.js?id=”+i+dl;f.parentNode.insertBefore(j,f);
)(window,document,’script’,’dataLayer’,’GTM-PBM75F9′);

function nwPWAScript()

// this function will act as a lock and will call the GPT API
function initAdserver(forced)

function fb_pixel_code()
(function(f, b, e, v, n, t, s)
if (f.fbq) return;
n = f.fbq = function()
n.callMethod ?
n.callMethod.apply(n, arguments) : n.queue.push(arguments)
;
if (!f._fbq) f._fbq = n;
n.push = n;
n.loaded = !0;
n.version = ‘2.0’;
n.queue = [];
t = b.createElement(e);
t.async = !0;
t.src = v;
s = b.getElementsByTagName(e)[0];
s.parentNode.insertBefore(t, s)
)(window, document, ‘script’, ‘https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js’);
fbq(‘init’, ‘482038382136514’);
fbq(‘track’, ‘PageView’);

Read More

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here