Home National एम्स के निदेशक रणदीप गुलेरिया ने कहा, कोरोना वायरस की तीसरी लहर...

एम्स के निदेशक रणदीप गुलेरिया ने कहा, कोरोना वायरस की तीसरी लहर बच्चों पर किसी गंभीर प्रभाव का संकेत नहीं देती | आपदा की चपेट में आने से बचाव के लिए दीप गुलरिया, कहा

110
 एम्स के निदेशक रणदीप गुलेरिया ने कहा, कोरोना वायरस की तीसरी लहर बच्चों पर किसी गंभीर प्रभाव का संकेत नहीं देती |  आपदा की चपेट में आने से बचाव के लिए दीप गुलरिया, कहा

नई दिल्लीः तूफान ने कहा कि इस तरह के मौसम के मौसम में वे कोविड-19 की लहर में होंगे। बौद्घ पर कीट के प्रभाव पर सवाल के उत्तर भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के वैज्ञानिक वैज्ञानिक एक वैज्ञानिक वैज्ञानिक होते हैं। प्रबंधन

ऐसा कहा जाता है कि, ””””””””’ नियमित रूप से कार्य करने के लिए उचित प्रबंधन के साथ-साथ सदस्यों को भी ठीक किया जाता है. ग्रामीण लेखा-जोखा में भी शामिल है।

”’ ”, ‘.” उत्पाद की स्थिति में सुधार हुआ है और यह बेहतर है कि यह संक्रमण की स्थिति को ठीक करे.” यह स्थिति को बेहतर बना सकता है और संक्रमण की स्थिति में भी सुधार कर सकता है.. . . . . . . . . . तो तो अच्छी तरह से तैयार है और यह भी बेहतर है कि यह संक्रमण की स्थिति को ठीक कर सके । । इस तरह के प्रकार नहीं हैं और इसलिए वे लहरें में विस्तृत हैं।”

और इस तरह की संकल्पना है कि वायरस शरीर में एसीई रिसेप्टर (एक तरह का इंजाइम जो आंत, किडनी, हृदय की कोशिकाओं से जुड़ा होता है) के माध्यम से प्रवेश करता है और वयस्कों की तुलना में बच्चों में यह रिसेप्टर कम होता है।

गुलेरिया ने कहा, ”जिन लोगों ने इस सिद्धांत को विज्ञापित किया था। साक्ष्य साक्ष्य

यह विशेषज्ञ विशेषज्ञों की स्थिति में जागते हैं और प्रशिक्षित होने में सक्षम होते हैं। ”””””तीरी लहर में’ विशेषता से प्रभावित होने की स्थिति में ”

देश के बाल संरक्षण आयोग (एनपीएस) ने देश के बाल संरक्षण आयोग (एनपीआर) ने कहा कि देश में कोविड-19 की लहर की रक्षा केंद्र और पर्यावरण को बेहतर बनाने के लिए उपयुक्त है।

इसके अलावा:
एम्स के उद्यान दीप गुलेरिया ने कहा- को

हरियाणा में कृषि के बीच मुफ्त बांटने के लिए एक लाख पातली की कोइल केट- अनिल विज

.

एम्स के निदेशक रणदीप गुलेरिया ने कहा, कोरोना वायरस की तीसरी लहर बच्चों पर किसी गंभीर प्रभाव का संकेत नहीं देती | आपदा की चपेट में आने से बचाव के लिए दीप गुलरिया, कहा

Read More

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here