Home World कैसे गरीब परिवार द्वारा संचालित कैफे सोशल मीडिया पोस्ट द्वारा सहेजा गया...

कैसे गरीब परिवार द्वारा संचालित कैफे सोशल मीडिया पोस्ट द्वारा सहेजा गया था, यहां दिल को छूने वाली कहानी है

124
कैसे गरीब परिवार द्वारा संचालित कैफे सोशल मीडिया पोस्ट द्वारा सहेजा गया था, यहां दिल को छूने वाली कहानी है

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म की ताकत को कमतर नहीं आंका जा सकता है, खासकर एक ऐसे जब में जब लोग वर्ग दुनिया में एक दूसरे के साथ जुड़े हुए हैं। हो सकता है आपने सोशल मीडिया पोस्ट से लोगों की किस्मत बदल दी होगी। कुछ ऐसा ही हुआ कैफे चलाकर रोजी रोटी कमानेवाले परिवार के साथ। परिवार की बंद किस्मत का दरवाजा उस खुले जब वह स्वादिष्ट था, स्वस्थ एक ग्राहक को परोसा।

कैसे बदली एक रेडियो पोस्ट ने परिवार की जिंदगी

ग्राहक नहीं और नहीं बल्कि सार्थक सोशल मीडिया हस्ती साबित हुआ। अविश्वसनीय कहानी में जॉर्जिया का क्रिस्टी किचन न सिर्फ आनेवाली तबाही से बच गई बल्कि उसे डोनेशन के रूप में बड़ी रकम भी हासिल हुई। ये सब संभव हुआ एक Android पोस्ट से जिसने कई लोगों के दिल को झकझोर दिया।

बंदी के कगार पर पहुंचे कैफे को खोलने में मदद मिली

क्रिस्टी व्हनर और सेबेस्टियन ग्रेसी के लिए चमत्कार की वजह बने लोकप्रिय ह्यूमैन ऑफ न्यू यॉर्क वेबसाइट के निर्माता और मशहूर लेखक ब्रान्डन स्टैनटन। कैफे में कदम रखने पर उन्हें ग्लूटेन मुक्त टिकिया के साथ डेरा मुफ्त लंच परोसा गया। इस दौरान फेज ने अपनी कहानी को साझा किया। उनकी कहानी ने ब्रान्डनटन को को काफी भावुक कर दिया। उसके बाद उन्होंने उसे दुनिया के सामने लाने का इरादा किया, और इस तरह किस्मत ने दस्तक दी।

लेखक के फैंस ने मार्मिक कहानी पर ध्यान दिया और उसे अन्य स्थानों तक फैला दिया। ब्रान्डन श्रृंखला की पूरी कहानी को विस्तार से बताया कि कैसे बंद होने के कगार पर कैफे चलानेवाला परिवार पेरू से जॉर्जिया केवल 10 हजार डॉलर में रेस्तरां खोलने के लिए पहुंचा। पांच बेटों के साथ परिवार को पालने के लिए उनका संघर्ष और काम के लंबे समय तक आपके दिल को भी छूना होगा।

सेबेस्टियन को एक साथ दो झटके लगे। पहले फर्निचर का कारोबार नाकाम हुआ और फिर बीमारी ने अपनी चपेट में ले लिया। परिवार के सामने जीवन की गाड़ी चलाने की समस्या पैदा हो गई। ऐसी स्थिति में क्रिस्टी व्हार्न ने कूकिंग में अपनी प्रतिभा का इस्तेमाल करते हुए कैफे खोलने का विचार किया। पहले तो पत्नी ने ग्लूटेन मुक्त, स्वस्थ भोजन पूरे परिवार के लिए पकाना शुरू किया और उस रेसिपी का इस्तेमाल कैफे में पकाने के लिए किया। मुश्किल हालात को याद करते हुए क्रिस्टी ने कहा, "हमारी जिंदगी में कुछ भी नहीं बचा था। बैंक ने घर पर कब्जा कर लिया, कार, फर्निचर और यहां तक ​​कि बिस्तर भी छीन लिए गए। हम छोटी सी जगह पर रहने को मजबूर हो गए। जो सेबेस्टियन की मां का था। "

कैफे चलाने के लिए पांच बच्चों सहित पूरे परिवार की जी तोड़ मेहनत को जानकर लोगों का दिल पसीज गया। ब्रान्डन ने दंपति के किचन के लिए फंड जुटाने का कार्यक्रम चलाया और दयालु लोगों की तरफ से डोनेशन की बड़ी रकम मिली।

'स्वेज नहर' में फंसा विशाल मालवाहक जहाज, जानिए इसके फंसने से आपकी जेब पर क्यों पड़ रहा है बुरा असर

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की सोशल मीडिया पर क्यों उड़ाई जा रही है खिल्ली, जानिए वजह

Read More

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here