Home Bollywood Movie Reviews गॉडज़िला: किंग ऑफ़ द मॉन्स्टर्स मूवी रिव्यू: इस पर वक़्त बर्बाद नहीं...

गॉडज़िला: किंग ऑफ़ द मॉन्स्टर्स मूवी रिव्यू: इस पर वक़्त बर्बाद नहीं हुआ तो बेहतर

3
गॉडज़िला: किंग ऑफ़ द मॉन्स्टर्स मूवी रिव्यू: इस पर वक़्त बर्बाद नहीं हुआ तो बेहतर

फ़िल्म रिव्यू: गॉडज़िला-किंग ऑफ़ द मॉन्स्टर्स

विज़ुअल रियल इफेक्ट्स ठीक ठाक हैं लेकिन बीते दिनों VFX का स्तर इतना बेहतर हो गया है कि गॉडज़िला के कारनामे किसी कॉमिक्स का हिस्सा लगते हैं।

मॉन्स्टर फिल्मों का भी अपना ही मज़ा है। जहाँ एक ओर विशालकाय जीव, दुनिया तबाह करने में जुटे होते हैं वहीँ उनके जैसा ही कोई भी लोहा ले रहा होता है। फिर कुछ वैज्ञानिक भी होते हैं जिनका कोई एक्सपेरिमेंट फेल हो जाता है और उनके सामने सब कुछ हो सकता है। जैसे सुपरहीरो, फिल्मों के कुछ स्टीरिओटप्स होते हैं उसी तरह मॉन्स्टर फिल्मों के भी कुछ बेसिक रूल्स होते हैं।

ग्रीन सूट पहनकर किसकी शादी में पहुंची शाहरुख की बेटी सुहाना खान? सामने आईआईएन तस्वीरें

गॉडज़िला-किंग ऑफ़ द मॉन्स्टर्स इन सभी नियमों का ध्यान रखने की कोशिश करता है और इस चक्कर में कुछ भी नया नहीं करता है। नतीजा एक बहुत ही सामान्य फिल्म है जिसमें तीस मिनट में आप मूल मुद्दे तक आ ही नहीं पाते हैं। मुख्य किरदार बिलकुल डरे हुए नहीं लगते और ना ही उनमें किसी तरह का उत्साह दिखता है। गॉडज़िला की पहली हुंकार थोड़ी आनंद ज़रूर देती है लेकिन थोड़ी देर बाद सब कुछ वापस बस शोर में तब्दील हो जाता है।

विज़ुअल रियल इफेक्ट्स ठीक ठाक हैं लेकिन बीते दिनों VFX का स्तर इतना बेहतर हो गया है कि गॉडज़िला के कारनामे किसी कॉमिक्स का हिस्सा लगते हैं। वेरा फारमेगा और मिला बॉबी ब्रो जैसे कलाकार भी स्ट्रगल करते हैं। मूल रूप से निर्देशक एफर्ट डोहर्ट का सारा फोकस स्क्रीन पर ‘स्पेक्टेकल’ अवतरित करने में जाता है और खामियाज़ा फिल्म को भुगतना पड़ता है। मुझे संदेह है की यह फिल्म नए ज़माने के बच्चों को भी इम्प्रेस करने में कामयाब हो पाएगी। इस पर वक़्त बर्बाद ही नहीं किया गया तो बेहतर।

मनोरंजन से जुड़ी खबरों को सोशल मीडिया पर भी पाने के लिए इस सूची पर क्लिक करें

डिटेल्ड रेटिंग

कहानी :
स्किनप्ल :
प्रत्यक्ष करना :
संगीत :



<!–

–>

<!–

–>

window.addEventListener(‘load’, (event) =>
nwGTMScript();
nwPWAScript();
fb_pixel_code();
);
function nwGTMScript()
(function(w,d,s,l,i))(window,document,’script’,’dataLayer’,’GTM-PBM75F9′);

function nwPWAScript()
var PWT = ;
var googletag = googletag

// this function will act as a lock and will call the GPT API
function initAdserver(forced)
if((forced === true && window.initAdserverFlag !== true)

function fb_pixel_code()
(function(f, b, e, v, n, t, s)
if (f.fbq) return;
n = f.fbq = function()
n.callMethod ?
n.callMethod.apply(n, arguments) : n.queue.push(arguments)
;
if (!f._fbq) f._fbq = n;
n.push = n;
n.loaded = !0;
n.version = ‘2.0’;
n.queue = [];
t = b.createElement(e);
t.async = !0;
t.src = v;
s = b.getElementsByTagName(e)[0];
s.parentNode.insertBefore(t, s)
)(window, document, ‘script’, ‘https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js’);
fbq(‘init’, ‘482038382136514’);
fbq(‘track’, ‘PageView’);

Read More

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here