Home National चिल्लाने पर 3 महीने की जेल होगी, जानिए इस नए आदेश से...

चिल्लाने पर 3 महीने की जेल होगी, जानिए इस नए आदेश से क्यों उड़ी है सबकी नींद

133
बिहार में चिल्लाने पर होगी तीन माह की सजा, शांतिपूर्ण चुनाव के लिए निर्वाचन आयोग ने दिखाई सख्ती.

बिहार में चिल्लाने पर तीन महीने की सजा होगी, चुनाव के लिए निर्वाचन आयोग ने सख्ती दिखाई।

बिहार में मतदान के दिन मतदान केंद्र या उसके करीब चिल्लाने वाले लोग कानूनी कार्रवाई की जद में आ सकते हैं। राज्य निर्वाचन आयोग ने पंचायत चुनाव को लेकर मतदान केंद्र और उसके आसपास कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए मतदान के दिन चिल्लाने पर प्रतिबंध लगा दिया है। चिल्लाने पर तीन महीने की सजा और सजा हो सकती है।

पट पट। बिहार (बिहार) में अगले कुछ दिनों में होने वाले पंचायत चुनाव (पंचायत चुनाव) के दौरान शोर मचाना, चिल्लाना आप पर भारी पड़ सकता है। मतदान के दिन मतदान केंद्र (मतदान केंद्र) या उसके नजदीक चिल्लाने वाले लोग कानूनी कार्रवाई की जद में आ सकते हैं। राज्य निर्वाचन आयोग ने पंचायत चुनाव को लेकर मतदान केंद्र और उसके आसपास कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए मतदान के दिन चिल्लाने पर प्रतिबंध लगा दिया है। चिल्लाने पर तीन महीने की सजा और सजा हो सकती है। इसको लेकर आयोग द्वारा दिशा निर्देश जारी कर दिए गए हैं।

राज्य निर्वाचन आयोग के अनुसार मतदान की तिथि के दिन मतदान केंद्र के भीतर, प्रवेश द्वार पर या फिर उसके आस-पास किसी भी सार्वजनिक और निजी स्थान पर कोई भी चिल्लाहट संभव नहीं है। ऐसा इसलिए क्योंकि चिल्लाने से निर्वाचन कार्य में लगे कर्मचारियों के कार्य में बाधा पड़ सकती है। अगर किसी के चिल्लाने से मतदान केंद्र के काम में लगे कर्मचारियों और अधिकारियों और अन्य व्यक्तियों के कार्य में बाधा पड़गी तो आयोग के निर्देशानुसार चिल्लाने वाले व्यक्ति को कानूनी कार्रवाई झेलनी पड़ेगी। आयोग के अनुसार मतदान केंद्र के भीतर प्रवेश द्वार, उसके बगल में लाउडस्पीकर के रूप में उपकरण उपयोग में नहीं लाया जा सकेगा और ना ही सक्षम हो सकेगा।

अगर कोई नियमों का उल्लंघन करता है तो उसे 3 महीने की सजा और जुर्माना या फिर दोनों सजा एक साथ हो सकती है। राज्य निर्वाचन आयोग के अनुसार कोई व्यक्ति मतदान केंद्र के समीप चिल्लाने पर लगाए गए प्रतिबंध का उल्लंघन करता है या फिर उसके लिए सटकर मदद करता है तो उसे 3 महीने तक की कारावास या कठिनाइयों या फिर दोनों सजा एक साथ काटनी होगी। आयोग के अनुसार पीठासीन अधिकारी अगर किसी को इस तरह के मामले में संलिप्त पाता है तो वह पुलिस को आरोपी को गिरफ्तार करने का निर्देश दे सकता है। पुलिस पीठासीन पदाधिकारी का निर्देश मिलते ही आरोपी शख्स पर कानूनी कार्रवाई कर सकती है।



<!–

–>

<!–

–>

window.addEventListener(‘load’, (event) =>
nwGTMScript();
nwPWAScript();
fb_pixel_code();
);
function nwGTMScript()
(function(w,d,s,l,i)w[l]=w[l])(window,document,’script’,’dataLayer’,’GTM-PBM75F9′);

function nwPWAScript()

// this function will act as a lock and will call the GPT API
function initAdserver(forced)

function fb_pixel_code()
(function(f, b, e, v, n, t, s)
if (f.fbq) return;
n = f.fbq = function()
n.callMethod ?
n.callMethod.apply(n, arguments) : n.queue.push(arguments)
;
if (!f._fbq) f._fbq = n;
n.push = n;
n.loaded = !0;
n.version = ‘2.0’;
n.queue = [];
t = b.createElement(e);
t.async = !0;
t.src = v;
s = b.getElementsByTagName(e)[0];
s.parentNode.insertBefore(t, s)
)(window, document, ‘script’, ‘https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js’);
fbq(‘init’, ‘482038382136514’);
fbq(‘track’, ‘PageView’);


चिल्लाने पर 3 महीने की जेल होगी, जानिए इस नए आदेश से क्यों उड़ी है सबकी नींद

Read More

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here