Home Bollywood Movie Reviews जजमेंटाल है क्या फिल्म समीक्षा: कंगना ने दमदार एक्टिंग से खींची न्यू...

जजमेंटाल है क्या फिल्म समीक्षा: कंगना ने दमदार एक्टिंग से खींची न्यू लकीर की

4
judgemental hai kya Poater

बॉबी से प्राप्त, एक ऐसी बच्ची जो अपने माता-पिता को आपस में लड़ते-झगड़ते देखती है। लेकिन दुनिया से इसके बारे में कुछ नहीं कहती है। वह जानती है, हर बाद में इसके बारे में सोचने पर उसका दिल बुरी तरह से दुखेगा। उसका पूरा बचपन इसी तरह जद्दोजहज में गुजर जाता है। लेकिन अक्सर ऐसी परिस्थितियों में बड़े बच्चों की मानसिक स्थिति सामान्य नहीं रह जाती है। बॉबी के साथ भी ऐसा ही होता है। उसके दिमाग में यह बात घर कर जाती है कि पुरुष और महिला के रिश्ते में सबकुछ ठीक नहीं होता है।

एक ऐसी लड़की के किरदार में कंगना रनौत ने कमाल का अभिनय किया है। बतौर मुख्य अभिनेत्री बचपन से ट्रुमा झेलना और मानसिक रूप से सिमुलेशनुलित लड़की के किरदार से दर्शकों बांधे रहना आसान काम नहीं है। किसी भी शख्स को देखते हुए आम तौर पर दर्शक उबने लगता है। लेकिन कंगना ने अपनी कम की एक्टिंग के बूते लगातार बांधे रखे है।

लेखिका और निर्देशक ने कमाल किया है
लेखिका कनिका ढिल्लन और निर्देशक प्रकाश कोवेलामुड़ी पर्दे पर एक कहानी को कहने का जबर्दस्त तरीका अपनाया गया है। इनकी फिल्म ‘जजमेंटटल’ क्या है। अचानक कुछ ऐसी नहीं घटती जो जो फिल्म के कथानक पर असर डालने वाली हो और ना ही कहानी परांपरागत तरीके से आगे बढ़ती है। फिल्म में नएपन के साथ तथ्यों को संगत तरीके से बिठाया गया है।

जजमेंटटल है क्या की समीक्षा।

‘जजमेंटल है क्या’ में हमारे लेयर के अंदर लेयर है

फिल्म में कंगना के बर्ताव को समझने के लिए लेखिका ढिल्लन ने कहानी में कई बेहद रोमांचक सीन लिखे हैं। एक के बाद एक कहानी की परतें खुलती हैं। उन्हें देखकर कई बार फिल्म की मुख्य किरदार बॉबी पर सहानुभक्ति आने लगती है और सबको समझ में आता है कि वह क्यों ऐसा बर्ताव कर रही है। लेकिन साथ ही दर्शकों के दिमाग में यह पशोपेश भी बना रहेगा कि बॉबी जो कर रही है वह ठीक है या नहीं?

यूट्यूब वीडियो

दूसरे हिस्से में थोड़ी धीमी गति होती है, लेकिन रेस लेते राजकुमार राव
लीिखा ढिल्लन और निर्देशक प्रकाश ने एक कसी हुई फिल्म बनाने की पूरी कोशिश की है। लेकिन इंटरवल के बाद फिल्म रामलीला के चक्कर में धीमी हो गई है। लेकिन क्लाइमेक्स तक आते-आते राजकुमार राव अपना कमाल दिखा देते हैं। दूसरे हिस्से में राजकुमार राव, कंगना को चुनौती देते हुए फिल्म में छा जाते हैं। केशव के किरदार में राजकुमार राव एक मर्डर केस में फंसी शख और मानवता को पर्दे पर उतारते हैं। कहानी में एक मोड़ ऐसा भी आता है जहां बॉबी और केशव एक दूसरे के करीब आते हैं। लेकिन यह करीबी दोनों को फबती नहीं।

सपोटिंग एक्टर्स ने काम का काम किया है
फिल्म में कंगना के ब्वॉयफ्रेंड के किरदार में हुसैन दलाल ने दर्शकों को थोड़ा हंसाने और आराम देने की कोशिश की है। क्योंकि कंगना और राजकुमार राव के किरदार बेहद चौंकाने वाले हैं। लेकिन अमृता पुरी, अमायरा दस्तूर, ब्रीजेंद्र काला, जिमी शेरगिल और सतीश कौशिक ने लोगों के लिए थोड़ी-थोड़ी हंसी के मौके बनाए रखे हैं, जो इस फिल्म को बेहद शानदार बना देते हैं।

जजमेंट-हाई-कया

प्रोड्यूसर एकता कपूर की भी तारीफ होगी
सही कहें तो ‘जजमेंटटल है क्या’ एक ऐसी स्टोरीलाइन वाली फिल्म है, जिसे सुनते समय शायद ही कोई निर्माता इसमें पैसे लगाने के लिए तैयार हो। दो ऐसी प्रमुख अभिनेताओं की कहानी जो पहले से मानसिक असंतुलन से गुजर रहे हैं, बाद में म आदेश मिस्त्री में फंस जाते हैं। यह नहीं है, दोनों के दिगाम में क्या चल रहा है, इसका कोई अंजाजा नहीं लगाया जा सकता, म आदेश-सस्पेंस होने के बाद भी फिल्म में कॉमेडी है। इस तरह की कहानियों में निर्माताओं की पसंद कम ही होती है। लेकिन एक बार फिर से निर्माता एकता कपूर ने अपनी रचनात्मक बुद्धी का परिचय दिया है और एक शानदार फिल्म पर्दे पर आने वाले कामयाब हो सकी है।

फाइनल कम
जो दर्शक सिनेमा में एडवेंचर पढ़ेगाते हैं, ‘जजमेंटटल है क्या’ निश्चित तौर पर उन्हें फिल्म देखने के लिए चाहिए।

window.addEventListener(‘load’, (event) =>
nwGTMScript();
nwPWAScript();
fb_pixel_code();
);
function nwGTMScript()
(function(w,d,s,l,i)w[l]=w[l])(window,document,’script’,’dataLayer’,’GTM-PBM75F9′);

function nwPWAScript()

// this function will act as a lock and will call the GPT API
function initAdserver(forced)
if((forced === true && window.initAdserverFlag !== true)

function fb_pixel_code()
(function(f, b, e, v, n, t, s)
if (f.fbq) return;
n = f.fbq = function()
n.callMethod ?
n.callMethod.apply(n, arguments) : n.queue.push(arguments)
;
if (!f._fbq) f._fbq = n;
n.push = n;
n.loaded = !0;
n.version = ‘2.0’;
n.queue = [];
t = b.createElement(e);
t.async = !0;
t.src = v;
s = b.getElementsByTagName(e)[0];
s.parentNode.insertBefore(t, s)
)(window, document, ‘script’, ‘https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js’);
fbq(‘init’, ‘482038382136514’);
fbq(‘track’, ‘PageView’);

Read More

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here