Home World जिम ने कोविक्सीन को कहा ‘ना’, 2 करोड़ डोज का नंबर लेने...

जिम ने कोविक्सीन को कहा ‘ना’, 2 करोड़ डोज का नंबर लेने से इनकार

138
भारत बायोटेक ने बीते दिनों कोवैक्सीन के क्लीनिकल ट्रायल के तीसरे फेज की अंतरिम रिपोर्ट जारी की थी, जिसमें इस वैक्सीन को कोरोना से लड़ने के लिए 81 फीसदी कारगर बताया गया था. (सांकेतिक तस्वीर)

भारत बायोटेक ने बीते दिनों कोविक्सीन के क्लीनिकल ट्रायल के तीसरे फेज की अंतरिम रिपोर्ट जारी की थी, जिसमें इस वैक्सीन को कोरोना से लड़ने के लिए 81 फीसदी कारगर बताया गया था। (सांकेतिक चित्र)

कोविद वैक्सीन अपडेट: रिपोर्ट्स के अनुसार, ब्राजील सरकार (ब्राजील सरकार) की ओर से जारी यार्डट में कहा गया है कि दवाइयों के लिए चाहे मेन्युसेटिंग प्रैक्टिसेज का पालन नहीं होने के कारण कोवैक्सीन को रिजेक्ट किया गया है।

नई दिल्ली। जिम के हेल्थ रिसुलेटर ने भारत (भारत) में तैयार हुई कावेक्सीन (कोवाक्सिन) एक्स करने से मना कर दिया है। जिम (ब्रेज़ी;) ने इस वैक्सीन के 2 करोड़ डोज का नंबर दिया था। खास बात यह है कि अमेरिका (अमेरिका) के बाद कोरोनावायरस महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित देश जेन ही है। देश ने वैक्सीन तैयार होने में सही मानकों का इस्तेमाल नहीं किए जाने पर सवाल उठाए हैं। हालांकि, इस मामले में वैक्सीन निर्माता भारत बायोटेक की तरफ से भी प्रतिक्रिया आई है। कंपनी का कहना है कि जेन से चर्चा जारी है।

रिपोर्ट्स के अनुसार, बार्सिलोना सरकार की तरफ से जारी गजट में कहा गया है कि दवाइयों के लिए चाहे मेन्युसेटिंग प्रैक्टिसेज का पालन नहीं होने के कारण कोवैक्सीन को रिजेक्ट किया गया है। इस पर एनडीटीवी से बातचीत में निर्माता ने कहा ‘जांच के दौरान बताई गई जरूरतों को पूरा किया जाएगा।’ उन्होंने कहा कि पूर्ति के लिए समयसीमा को लेकर जेसन एनआरए के साथ चर्चा जारी की है। और यह जल्द ही सुलझा लिया जाएगा। ‘

यूट्यूब वीडियो

यह भी पढ़ें: कोरोना वैक्सीन की बर्बादी को 1% से कम रखने की जरूरत, केंद्र ने राज्यों और UTs से कहाएक अन्य रिपोर्ट के अनुसार, हैदराबाद स्थित कंपनी ने कहा है कि जांच के दौरान सामने आए मुद्दों पर काम जारी है। साथ ही उन्होंने दावा किया कि जेस सरकार ने 2 करोड़ डोज का नंबर रद्द नहीं किया है। तीसरे चरण के क्लीनिकल ट्रायल में वैक्सीन के 81 प्रतिशत आंतरिक प्रभावी होने का दावा किया गया है। वर्तमान में भारत में कोविक्सीन और पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में तैयार हुई कोविशील्ड का इस्तेमाल किया जा रहा है।

भारत में ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने कोविक्सीन को पाबंदियों के साथ आपातकालीन उपयोग की अनुमति जनवरी में दे दी थी। इस वैक्सीन को भारत बायोटेक ने इंडियन काउंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च के साथ मिलकर तैयार किया है। कंपनी ने जेसन में आपातकालीन उपयोग के लिए 8 मार्च को आवेदन किया था। वहीं, बीते महीने बार्सिलोना सरकार ने कंपनी से 2 करोड़ डोज के लिए करार किया था।



<!–

–>

<!–

–>

window.addEventListener(‘load’, (event) =>
nwGTMScript();
nwPWAScript();
fb_pixel_code();
);
function nwGTMScript()
(function(w,d,s,l,i)w[l]=w[l])(window,document,’script’,’dataLayer’,’GTM-PBM75F9′);

function nwPWAScript()

// this function will act as a lock and will call the GPT API
function initAdserver(forced)
if((forced === true && window.initAdserverFlag !== true)

function fb_pixel_code()
(function(f, b, e, v, n, t, s)
if (f.fbq) return;
n = f.fbq = function()
n.callMethod ?
n.callMethod.apply(n, arguments) : n.queue.push(arguments)
;
if (!f._fbq) f._fbq = n;
n.push = n;
n.loaded = !0;
n.version = ‘2.0’;
n.queue = [];
t = b.createElement(e);
t.async = !0;
t.src = v;
s = b.getElementsByTagName(e)[0];
s.parentNode.insertBefore(t, s)
)(window, document, ‘script’, ‘https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js’);
fbq(‘init’, ‘482038382136514’);
fbq(‘track’, ‘PageView’);

Read More

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here