Home National नंदीग्राम विधानसभा क्षेत्र के रिटर्निंग ऑफिसर को दी गई सुरक्षा

नंदीग्राम विधानसभा क्षेत्र के रिटर्निंग ऑफिसर को दी गई सुरक्षा

59
चुनाव आयोग  (फाइल फोटो)

चुनाव आयोग (फाइल फोटो)

पश्चिम बंगाल सरकार ने निर्वाचन आयोग (चुनाव आयोग) को बताया कि उसने नंदीग्राम (नंदीग्राम) विधानसभा क्षेत्र के मतदान अधिकारी को सुरक्षा मुहैया करवाई है।

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल सरकार ने निर्वाचन आयोग (चुनाव आयोग) को बताया कि उसने नंदीग्राम विधानसभा क्षेत्र के मतदान अधिकारी को सुरक्षा मुहैया करायी है। सूत्रों ने यह जानकारी दी है। इस विधानसभा सीट पर तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी (ममता बनर्जी) और भाजपा के शुवेंदु अधिकारी (सुवेंदु अधकारी) के बीच कड़ा चुनावी मुकाबला हुआ था। अपने पूर्व समर्थक और अब भाजपा नेता अधिकारी से 1956 वोटों के अंतर से हार गयीं। सोमवार को तृणमूल नेता (TMC) ने आरोप लगाया था कि नंदीग्राम के रिटर्निंग ऑफिसर ने उनके अनुरोध के बाद भी मतों की फिर से गिनती करने का आदेश नहीं दिया क्योंकि उन्हें अपनी जान का डर था। सूत्रों ने बताया कि निर्वाचन आयोग के निर्देश पर रिटर्निंग ऑफिसर को व्यक्तिगत रूप से और घर पर भी सुरक्षा मुहैया करायी गयी है। ऐसी खबरें हैं कि वह अपने कर्म का निर्वहन करने के दौरान गहरे दबाव में थे। आयोग ने मंगलवार को फिर से पश्चिम बंगाल सरकार को पत्र लिखकर उसे संबंधित अधिकारी को दी गयी सुरक्षा पर नियमित आधार पर कड़ी नजर रखने के लिए सभी उपयुक्त कदम उठाने को कहा था। आयोग ने यह भी कहा कि अधिकारी को उपयुक्त चिकित्सीय सहयोग और परामर्श उपलब्ध कराया जाएगा। चुनाव रिकॉर्ड सुरक्षित तरीके से रखने के निर्देश इस पत्र का हवाला देते हुए सूत्रों ने बताया कि राज्य सरकार से कहा गया है कि किसी को भी नुकसान या नुकसान या ऐसी कोई धारणा या हितों का चुनाव के दौरान तैनात की गयी महिलाओं पर गंभीर प्रभाव होगा। राज्य के मुख्य रिटर्निंग ऑफिसर को पहले ही यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया है कि निर्धारित दिशानिर्देशों के तहत ईवीएम, वीवीपीएटी मशीन, वीडियो रिकॉर्डिंग, मतगणना रिकॉर्ड सहित सभी चुनाव रिकॉर्ड सुरक्षित तरीके से रखे जाएं.आयोग ने कहा – मुख्य निर्वाचन अधिकारी जरूरत पड़ने पर ऐसे स्थानों पर अतिरिक्त सुरक्षा के लिए राज्य सरकार के साथ तालमेल के साथ काम करेंगे। एक बयान में निर्वाचन आयोग ने कहा कि जमीनी स्तर पर चुनाव संबंधी अधिकारियों ने पूरी तरह से विस्तार और निष्पक्षता के साथ काफी प्रतिस्पर्धी राजनीतिक माहौल में कर्मठता से अपना काम किया। उन्होंने कहा, ‘….. और इसलिए, इस तरह के मामले में कोई मंशा प्रकट नहीं हुई है।’

रविवार को हुए मतगणना का हवाला देते हुए आयोग ने कहा कि हर मेज पर एक पर्यवेक्षक था। उन्होंने कहा, ‘उनकी रिपोर्ट में अपने संबंधित पत्रिका पर मतगणना प्रक्रिया में किसी भी गड़बड़ी का संकेत नहीं था।’ आयोग ने कहा कि हर दौर की मतगणना के परिणाम पर कोई संदेह नहीं प्रकट किया गया है, जिससे ऑफिसर मतों की गिनती की दिशा में बेरोक-टोक बढ़े। ई ने कहा कि हर दौर के नतीजे की ओर सभी मतगणना एजेंटों से साझा की गयी और उन्होंने परिणाम-पत्र पर डायरीखत किए।



<!–

–>

<!–

–>

window.addEventListener(‘load’, (event) =>
nwGTMScript();
nwPWAScript();
fb_pixel_code();
);
function nwGTMScript()
(function(w,d,s,l,i)[];w[l].push(‘gtm.start’:
new Date().getTime(),event:’gtm.js’);var f=d.getElementsByTagName(s)[0],
j=d.createElement(s),dl=l!=’dataLayer’?’&l=”+l:”‘;j.async=true;j.src=”https://www.googletagmanager.com/gtm.js?id=”+i+dl;f.parentNode.insertBefore(j,f);
)(window,document,’script’,’dataLayer’,’GTM-PBM75F9′);

function nwPWAScript()
var PWT = ;
var googletag = googletag

// this function will act as a lock and will call the GPT API
function initAdserver(forced)
if((forced === true && window.initAdserverFlag !== true)

function fb_pixel_code()
(function(f, b, e, v, n, t, s)
if (f.fbq) return;
n = f.fbq = function()
n.callMethod ?
n.callMethod.apply(n, arguments) : n.queue.push(arguments)
;
if (!f._fbq) f._fbq = n;
n.push = n;
n.loaded = !0;
n.version = ‘2.0’;
n.queue = [];
t = b.createElement(e);
t.async = !0;
t.src = v;
s = b.getElementsByTagName(e)[0];
s.parentNode.insertBefore(t, s)
)(window, document, ‘script’, ‘https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js’);
fbq(‘init’, ‘482038382136514’);
fbq(‘track’, ‘PageView’);


नंदीग्राम विधानसभा क्षेत्र के रिटर्निंग ऑफिसर को दी गई सुरक्षा

Read More

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here