Home Bollywood लॉकडाउन में प्रियंका चोपड़ा को मिली सीख, अपनों का साथ ही देता...

लॉकडाउन में प्रियंका चोपड़ा को मिली सीख, अपनों का साथ ही देता है जीने का मकसद

114
प्रियंका चोपड़ा को लॉकडाउन में मिली सीख. (फाइल फोटो)

प्रियंका चोपड़ा को लॉकडाउन में मिली सीख। (फाइल फोटो)

प्रियंका चोपड़ा (प्रियंका चोपड़ा) को विभाजित -19 (कोविद -19) की वजह से लगे लॉकडाउन में काफी कुछ सीखने को मिला है। अपने एक इंटरव्यू में बताया कि जीने का मकसद और अपनों के साथ उनके लिए काफी मददगार साबित हुआ है।

मुंबई। बॉलीवुड-Google एक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा (प्रियंका चोपड़ा) इन दिनों अपने हसबैंड निक जोन (निक जोनास) के साथ यूएस में बने रहे हैं। कोविद -19 महामारी की वजह से सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि विदेशों में भी बुरा हाल है। कोरोना की दूसरी लहर ने लोगों को बुरी तरह से झकझोर दिया है। लॉकडाउन में लोगों की मानसिक स्थिति भी खराब होने लगी है। प्रियंका भी अपने घर में समय बिता रही हैं। प्रियंका चोपड़ा इन दिनों की फोटोज और वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर करती रहती हैं। प्रियंका चोपड़ा ने अपनी मनस्थिति के बारे में खुलकर बात की। एक आंतरिक प्रकाशन से बात करते हुए प्रियंका ने बताया कि ‘इन दिनों दूसरे लोगों की तरह ही घर में बैठकर घंटों टीवी देखना जारी रहा। दो सप्ताह भी नहीं बीते कि मुझे लगा कि इस समय का सही उपयोग करना चाहिए। कुछ चीजें मेरी जिंदगी में बहुत मायने रखती हैं। पहला है जीने का खास मकसद। इसलिए मैंने तय किया है कुछ ऐसा करना है जो कुछ खास हो। दूसरा, जिनसे आप प्यार करते हैं, उनके साथ रहना और समय रुकना है। अपने लोगों से बात करना, घंटों टीवी से चिपके रहने से बेहतर है। ऐसा करना इस वक्त में काफी हेल्पफुल भी है। प्रियंका चोपड़ा ने बताया कि ‘वर्कआउट को लेकर वह काफी अशुभ हैं। अक्सर किसी न किसी बहाने से चिप कर रहे हैं। लेकिन लॉकडाउन में हर दिन नियम से वर्कआउट करते हैं। लॉकडाउन में हमें ये भी पता चला कि कैसे घर पर रहते हुए आसान एक्सरसाइज करके फिट किया जा सकता है। इसके लिए जिम या ट्रेडमिल की भी जरूरत नहीं है ‘। इसके पहले प्रियंका चोपड़ा ने कोरोना पीड़ितों की मदद के लिए ट्वीट किया था। इस ट्वीट के साथ प्रियंका ने यूएस प्रेसिडेंट, व्हाइट हाउस चीफ सहित कई लोगों को टैग कर भारत की मदद करने की अपील की थी। बॉलीवुड की देसी गर्ल भले ही भारत से बाहर रह गई है लेकिन इनका दिल देश को संकट में देख परेशान हो उठता है।



<!–

–>

<!–

–>

window.addEventListener(‘load’, (event) =>
nwGTMScript();
nwPWAScript();
fb_pixel_code();
);
function nwGTMScript()
(function(w,d,s,l,i)w[l]=w[l])(window,document,’script’,’dataLayer’,’GTM-PBM75F9′);

function nwPWAScript()

// this function will act as a lock and will call the GPT API
function initAdserver(forced)
if((forced === true && window.initAdserverFlag !== true)

function fb_pixel_code()
(function(f, b, e, v, n, t, s)
if (f.fbq) return;
n = f.fbq = function()
n.callMethod ?
n.callMethod.apply(n, arguments) : n.queue.push(arguments)
;
if (!f._fbq) f._fbq = n;
n.push = n;
n.loaded = !0;
n.version = ‘2.0’;
n.queue = [];
t = b.createElement(e);
t.async = !0;
t.src = v;
s = b.getElementsByTagName(e)[0];
s.parentNode.insertBefore(t, s)
)(window, document, ‘script’, ‘https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js’);
fbq(‘init’, ‘482038382136514’);
fbq(‘track’, ‘PageView’);

Read More

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here