Home Technology Gadgets सिग्नल ऐप को फेसबुक Ceo मार्क जुकरबर्ग ने ट्रोल किया जानिए क्यों

सिग्नल ऐप को फेसबुक Ceo मार्क जुकरबर्ग ने ट्रोल किया जानिए क्यों

134
सिग्नल ऐप को फेसबुक Ceo मार्क जुकरबर्ग ने ट्रोल किया जानिए क्यों

सैन फ्रांसिस्को: ‘सिग्नल’ एप ने फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग को ‘ट्रोल’ कर दिया है। सिग्नल एप्स ने कहा कि व्हाट्सएप प्राइवेसी का 15 मई वाला डेडलाइन बहुत जल्द नजदीक आ रहा है, इसका सबसे सटीक उदाहरण मार्क जुकरबर्ग खुद हैं। दस रेटिंग, फेसबुक के करोड़ों यूजर्स का डेटा लीक होने का मामला सामने आया। इसमें जुकरबर्ग का डेटा भी लीक हुआ जिसमें उनका फोन नंबर शामिल है। इसके बाद एक सिक्योरिटी रिसर्चर ने खुलासा किया कि जुकरबर्ग ‘सिग्नल’ एप का इस्तेमाल करते हैं।

क्यों संकेत उपकरण ने जुकरबर्ग को ट्रोल किया था?

व्हाट्सएप पर फेसबुक का मालिकाना कहना है। बीते महीने व्हाट्सएप अपनी निजता नीति को आलोचनाओं से घिरा रहा है। व्हाट्सएप ने गोपनीयतासी नीति के तहत यूजर्स से कहा था कि अगर इस नई नीति को एक्सेप्ट नहीं किया गया तो ऐप उपयोगकर्ताट करना होगा। कंपनी की तरफ से कहा गया था कि ऐसे यूजर्स का खाता 8 फरवरी के बाद बंद हो जाएगा। इस नीति का जमकर विरोध हुआ। जिसके बाद कंपनी ने इसे 15 मई तक के लिए टाल दिया था।

इस गोपनीयता नीति के सामने आने के बाद सोशल मीडिया पर कई तरह की प्रतिक्रियाएं सामने आई थीं। कई लोगों ने कहा कि वे इस निजता नीति के तहत व्हाट्सएप के विकल्प के तौर पर दूसरे एप का इस्तेमाल करेंगे। इस दौरान केवल सिग्नल एप्स सुर्खियों में आए। इसे व्हाट्एस के गांडी एप्स की तरह देखा गया।

डेटा लीक का मामला क्या है?

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक के 53.3 करोड़ यूजर्स का डेटा लीक होने का मामला सामने आया है। केवल यूजर्स ही नहीं बल्कि कंपनी के सीईओ मार्क जुकरबर्ग के डेटा लीक होने की खबर ने सनसनी फैला दी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, डेटा लीक से खुलासा हुआ है कि फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग सिग्नल ऐप का इस्तेमाल करते हैं।

दरअसल जुकरबर्ग का फोन नंबर 53.3 करोड़ फेसबुक यूजर्स के लीक हुए डेटा में से है। एक ऑफ़लाइन रिपोर्ट के मुताबिक, जुकरबर्ग के फोन नंबर और फेसबुक यूजर आईडी के अलावा उनका नाम, लोकेशन, शादी से संबंधित जानकारी और जन्मतिथि संबंधी डेटा लीक हुआ है।

वास्तव में एक सिक्योरिटी रिसर्चर ने खुलासा किया है कि जुकरबर्ग अपने लीक हुए फोन नंबर से सिग्नल का उपयोग करते हैं। मार्क जुकरबर्ग सिग्नल का उपयोग करके अपनी खुद की गोपनीयतासे का खयाल रख रहे हैं, जिसमें एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन मिलता है। सिक्योरिटी एक्सपर्ट्स डेव वाकर ने ट्विटर पर जुकरबर्ग के लीक हुए फोन नंबर के हरे के साथ पोस्ट किया है, जिसमें कहा गया है, “मार्क जुकरबर्ग सिग्नल पर हैं।”

डेव वाकर ने कहा है कि चूंकि फेसबुक पर एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन की सुविधा नहीं है, इसलिए मार्क जुकरबर्ग सिग्नल का उपयोग करके अपनी खुद की गोपनीयतासे का खयाल रख रहे हैं। हाल ही में एक हैकर द्वारा डिजिटल मंच पर डेटा लीक से संबंधित जानकारी पोस्ट की गई थी। कुल 61 लाख भारतीयों सहित लगभग 53.3 करोड़ फेसबुक यूजर्स के व्यक्तिगत डेटा में ऑनलाइन लीक होने की खबर के बाद इस रिपोर्ट में सनसनी फैल गई है। यह खबर ऐसे समय में आई है, जब फेसबुक के स्वामित्व वाली व्हाट्सएप की नई निजता नीति से नाराज कई उपयोगकर्ता सिग्नल जैसे सुरक्षित माने जाने वाले विकल्प की ओर बढ़ रहे हैं।

पैन कार्ड सुधार: पैन कार्ड में हो गया है धुंध? तो घर बैठे ऐसे ठीक करें पैनकार्ड

Read More

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here