Home Bollywood Movie Reviews Good Newwz Movie Review अक्षय कुमार करीना कपूर के साथ इस खुशखबरी...

Good Newwz Movie Review अक्षय कुमार करीना कपूर के साथ इस खुशखबरी के साथ आपका नया साल मुबारक हो

3
Good Newwz Movie Review अक्षय कुमार करीना कपूर के साथ इस खुशखबरी के साथ आपका नया साल मुबारक हो

अच्छा न्यूवेज़ मूवी की समीक्षा: बॉलीवुड में कॉमेडी फिल्मेंमों का सक्सेस रेट्रो हमेशा से ही काफी लोकप्रिय रहा है। शायद इसीलिए बॉलीवुड ने इस साल को अलविदा भी कॉमेडी की डोज के साथ ही देने की कोशिश की है। अक्षय कुमार (अक्षय कुमार), करीना कपूर खान (करीना कपूर खान), दिलजीत दोसांझ (दिलजीत दोसांझ) और कियारा आडवानी (किआरा आडवाणी) की फिल्म ‘गुड न्यूज’ (गुड न्यूवेज़) इस शुक्रवार को रिलीज़ हो रही है। ये फिल्मम आईवीएफ जैसे सीरियस मुद्दे बने भले ही है, लेकिन इसमें सीरियस जैसा कुछ नहीं है। यानी ये फ़िल्मम कॉमेडी का एक शानदार डोज है, जो आपके न्‍यू ईयर को मूल रूप से ‘हैप्‍पी न्‍यू ईयर’ बना सकता है।

कहानी: दीपन्ती (कर्ण कपूर) और वरुण बत्रा (अक्षय कुमार) मुंबई के एक वेल-सेटल्ड कपल हैं, जिनकी शादी को 7 साल हो गए हैं और अब दीपनी मां बनना चाहती हैं। दोनों इसके लिए काफी कोशिश करते हैं, लेकिन फिर सफल न होने पर गो-माने डॉक्टर जोशी (आदिल हुसैन) से मिलते हैं। यहां वे डॉ .्टर जोशी आईवीएफ की सलाह देते हैं, जिसके लिए ये जोड़ी तैयार हो जाती है। मुश्किल तब शुरू होती है, जब ‘बत्रा’ सरनेम के चलते हुए कनफ्यूजन में वरुण बत्रा और हनी बत्रा (दिलजीत दोसांझ) के वाचप्रेम उद्योग में बदल जाते हैं।

वरुण और हनी दोनों की ही पत्तीएं यानी दीप्ति (कर्ण कपूर) और मोनिका (कियारा आडवाणी) प्रेग्नेंट हो जाते हैं, लेकिन गलत पिताओं के बच्चों के चींटे। यहां से शुरू हुआ कनफ्यूजन फिल्मम के अंत में ख्रेडम होता है, जिसे समझने के लिए आपको थिएटर्स का रुख तो पड़ेगा।

सबसे पहले तारीफ होनी चाहिए इस फिल्मम के सब्नजेक्ट की, जो काफी फ्रेश और नई है। इस तरह के विषय पर फिल्मम बनाने के लिए निर्देशक राज मेहता की भी तारीफ होनी चाहिए। राज मेहता ने इस गंभीर विषय को काफी मजेदार ढंग से दिखाने की कोशिश की है। राज ने सिनेमाम को कहीं भी बहुत भारी नहीं होने दिया है। वहीं, फ़िल्मम की रिर्निंग भी काफी शार्टार्ट है। कई डायलॉग आपको जबरदस्त ठहाका लगाने पर मजबूर कर देंगे। साथ ही फिल्मेंम में शादी के एक समय के बाद कपलस पर सोसायटी के प्रेशर जैसी चीज को भी काफी शमार्टली फिलम में दिखाया गया है।

एक्टिंग की बात करें, तो अक्षय कुमार पिछले कुछ समय से सामाजिक मुद्दों से जुड़ी फ़िल्में कर रहे हैं, लेकिन मुझे लगता है कि कॉमेक टाइमिंग के मामले में अक्षय बॉलीवुड के सबसे बेहतरीन एक्टर्स में से एक हैं, जो उनकी पिछली कुछ फ़िल्मों में मिसिंग था। । (हाउसफुल सीरीज की फिल्मोंमों में अक्षय कॉमेडी नहीं कुछ और ही करते हैं, तो पलीज उसे न गिनें।) लेकिन ‘हेरा-फेरी’ के बाद अक्षय कुमार की जबरदस्त कॉमिक टाइमिंग आपको इस फिल्मों में जरुर देखने को मिलेगी। वहीं, करीना कपूर शंक सूरत पर काफी खुबसूरत नजर आ रही हैं। करीना के सीन काफी नेचुरल हैं।

कियारा का शक सूरत टाइमिंग बाकी शटार्स की तुलना में कम है, लेकिन वह अपने इस भोली सी पंजाबी लड़की के किरदार में काफी शोवी लगी हैं। फिल्मोंम की जान कहे जा सकते हैं एक्टर दिलजीत दोसांझ, जो अपने हर सीन में छा गए हैं। अक्षय और दिलजीत के बीच बार में एक सीन फिल्माया गया है। इस सीन में दिलजीत की मासूमियत से लेकर उनकी पंजाबी रौबीला अंदज, सब एक साथ देखने को मिलती है। कॉमिक टामिंग के मामले में वे शानदार हैं।

फ़िल्मम के गाने पहले ही काफी पसंद किए जा रहे हैं और फ़िल्मम में भी ये कहीं रुकावट पैदा नहीं करते हैं। अच्छी चीज़ ये हैं कि जितने फनी और मज़ मोमेंट इस फ़िल्मम में हैं, उतने ही गुडे तरीके से इमोशनल सीन भी फ़िल्ममाए गए हैं।

फिल्मोंम का फर्स्ट हाफ काफी कसा हुआ है, लेकिन सेकंड हाफ में कुछ सीन्ट्स में अगर आप इमोशीनस से कनेक्टएक्सट नहीं कर पाएंगे, तो शायद ये थोड़े खिंचे हुए लग सकते हैं। एक शिकायत और मेरी इस फिलम से है कि इसका जालिमठक्स अचानक से हो गया है। मैं उम्मेद कर रहा था कि शायद कुछ और भी दिखाया जाए, लेकिन ये अचानक से ख्रेडम हो जाता है। लेकिन ये चुनने-पुट शिकायतों के बीच भी ये फिल्मम दर्शकों के लिए थिएटर्स में सच में चाहे नॉटूज ही साबित हों। मेरी ओर से इस फिल्मम को 3.5 अंकतार।

window.addEventListener(‘load’, (event) =>
nwGTMScript();
nwPWAScript();
fb_pixel_code();
);
function nwGTMScript()
(function(w,d,s,l,i))(window,document,’script’,’dataLayer’,’GTM-PBM75F9′);

function nwPWAScript()
var PWT = ;
var googletag = googletag

// this function will act as a lock and will call the GPT API
function initAdserver(forced)
if((forced === true && window.initAdserverFlag !== true)

function fb_pixel_code()
(function(f, b, e, v, n, t, s)
if (f.fbq) return;
n = f.fbq = function()
n.callMethod ?
n.callMethod.apply(n, arguments) : n.queue.push(arguments)
;
if (!f._fbq) f._fbq = n;
n.push = n;
n.loaded = !0;
n.version = ‘2.0’;
n.queue = [];
t = b.createElement(e);
t.async = !0;
t.src = v;
s = b.getElementsByTagName(e)[0];
s.parentNode.insertBefore(t, s)
)(window, document, ‘script’, ‘https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js’);
fbq(‘init’, ‘482038382136514’);
fbq(‘track’, ‘PageView’);

Read More

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here